16 फरवरी, 2020|5:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑटो एक्सपो 2020 : आखिरी दिन छात्रों की तकनीक का दमदार प्रदर्शन

ऑटो एक्सपो 2020 में एक से बढ़कर एक तकनीक वाली कार-बाइक मौजूद हैं। एक्सपो में आईआईटी, ऑटो मोबइल डिजाइन संस्थान समेत कई विश्वविद्यालयों के छात्रों ने भी अपनी तकनीक का प्रदर्शन किया है। छात्रों की बनाई कार, बाइक, रेसिंग कार बड़ी-बड़ी कंपनियों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रही है।

छात्रों ने फार्मूला-1 स्टाइल की कार को इलेक्ट्रिक वजर्न में डिजाइन किया है। कार का वजन कम करके इसकी गति को और बढ़ाने में छात्र जुटे हुए हैं। छात्रों ने नौ परिवहन के लिए भी वाहनों को डिजाइन किया है। छात्रों का दावा है कि उनकी डिजाइन सबसे अलग होगी। यह काफी कारगर सिद्ध होगी। 

बैट्री से दौड़ेगी फार्मूला-1 रेसिंग कार 
दिल्ली आईआईटी के छात्रों ने फार्मूला-1 रेसिंग कार को डिजाइन करके बनाया है। संस्थान के मैकेनिकल और ऑटो मोबाइल इंजीनियरिंग के छात्रों ने इलेक्ट्रिक कार बनाई है। खास बात यह है कि इस कार में छात्रों ने अपना बैट्री मैनेजमेंट सिस्टम बनाया है। उनका दावा है कि एक बार चार्ज होने पर यह 25 किलोमीटर चलेगी। 3.8 सेकेंड में यह 100 किलोमीटर प्रति घंटा की गति पकड़ लेगी। जर्मनी में एफ-1 ट्रैक पर इसका प्रदर्शन हो चुका है। इस कार को बनाने में पंकज, दीपांशु, इशांक, अभिषेक समेत 25 छात्रों ने अपना योगदान दिया है। दावा किया है कि अब इस कार का वजन 30 किलो और कम करेंगे ताकि इसकी स्पीड बढ़ सके। अभी इसका वजन 265 किलोग्राम है।

एक बटन से चलते हैं गेयर 
देहरादून के डीआईटी संस्थान के छात्रों ने फार्मूला-1 रेसिंग कार की तरह की एक कार को डिजाइन किया है। डिजाइन के बाद इसको मूर्त रूप भी दिया है। कोयम्बटूर में इसका प्रदर्शन भी कर चुके हैं। पेट्रोल वर्जन की कार की अधिकतम गति 127 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसमें केटीएम डिवोक 390 का इंजन लगा है। इसके गेयर एक बटन से चलते हैं। कार को बनाने वाली टीम के अक्षत ने बताया कि इसके सारे पार्ट्स खुद डिजाइन किए हैं। यह 5 सेकेंड में 60 किलोमीटर की गति पकड़ लेती है। कार का वजन कम रखने के लिए ग्लास फाइबर का इस्तेमाल किया गया है।

बिना चेन वाली बाइक 
ग्रेनो के शारदा विश्वविद्यालय के मैकेनिकल एंड ऑटो मोबाइल इंजीनियरिंग के बच्चों ने बिना चेन वाली बाइक को डिजाइन किया है। विवि की इवाल्व टीम ने विजन ई बाइक को डिजाइन किया है। यह इलेक्ट्रिक बाइक एक बार में चार्ज होने पर 90 किलोमीटर चलती है। इसकी अधिकतम गति 60 किलोमीटर है। इस बाइक में चेन नहीं है बल्कि पिछले पहिये के अंदर मोटर लगी है। यह मोटर ही बाइक को आगे बढ़ाती है। इस बाइक को डिजाइन करने में सोमेंदु दत्ता, जतिन मल्होत्रा, रोहति व गुरपाल शामिल हैं। इसके अलावा विवि की टीम वान ने एक हबलेस बाइक को डिजाइन किया है। इस बाइक में रिम नहीं है बल्कि टायर के बगल में एल्युमिनियम का इस्तेमाल किया गया है। बेरिंग के जरिये यह बाइक चलती है। एक बार चार्ज होने पर यह 105 किलोमीटर चलती है। इसकी अधिकतम गति 60 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस टीम में आयुष, अंशुल, विवेक, अभिषेक व नीलांजन शामिल है। दोनों बाइक को ऑटो एक्सपो में प्रदर्शित किया गया है।

मंदिरों को ध्यान में रखा बनाया डिजाइन 
अहमदाबाद के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन के छात्रों ने वाहनों के डिजाइन तैयार किए हैं। इनके तैयार किए गए डिजाइन का कुछ हिस्सा बड़ी-बड़ी कंपनियां इस्तेमाल करती हैं। छात्र रंजीन मुरलीधरन ने दक्षिण के मंदिरों को ध्यान में रखकर एक कार का डिजाइन तैयार किया है। गोल्डन कलर यह कार महिंद्रा कंपनी के लिए डिजाइन किया है। यह एसयूवी या जीप जैसे मॉडल की तरह हो सकती है। संस्थान के छात्र सचिन ने नौ परिवहन के लिए स्पीड बोट का डिजाइन तैयार किया है। अब तक चल रही बोटों से यह भिन्न होगी। इसका डिजाइन इस तरह तैयार किया है ताकि इसकी स्पीड और बढ़ाई जा सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title:Auto Expo 2020 : Students give demonstration of technologies on last day